सामग्री

नीबू का अचार

See this recipe in English

नीबू विटामिन सी का बहुत अच्छा स्रोत्र है. नीबू का यह खट्टा मीठा अचार खाने में तो बहुत स्वादिष्ट होता ही है साथ ही साथ पेट के लिए भी बहुत अच्छा है. ह्ड़ एक बहुत अच्छा पाचक है तो अगर आपको ह्ड़ आसानी से मिल जाए तो आप इसे ज़रूर डालें इस अचार में. मैं जब भी कभी यात्रा करती हूँ तो यह अचार ज़रूर रखती हूँ अपने साथ. तो आप भी बनाइए यह स्वादिष्ट और स्वास्थ्यवर्धक अचार.....

Neebu pickle

बनाने की विधि

  1. नीबू को धोकर कपड़े से अच्छे से पोछ लें. नीबू को थोड़ी देर के लिए सूखने के लिए छोड़ दें. किसी भी अचार को बनाते समय यह ध्यान रखें कि इसमें पानी ना जाए. ऐसा करने से अचार खराब नही होते हैं.
Neebu/ lime
  1. अदरक का छिलका हटा कर और उसे धो कर मोटे कद्दूकस से घिस लें, या फिर पतले लंबे टुकड़ों मे काट लें.
ingredients for lime pickle
  1. अब हर नीबू को ८ टुकड़ों में काट लें. आप चाहें तो नीबू के बड़े या फिर और छोटे टुकड़े भी कर सकते हैं अपनी ज़रूरत अनुसार.
lime cut into small pieces
  1. अब एक काँच के बर्तन कटे नीबू के टुकड़े, अदरक, ह्ड़, शक्कर, काली मिर्च और नमक को अच्छे से मिलाएँ. अब इस नीबू के अचार को धूप में रखें. आप जितना ज़्यादि इसे धूप दिखाएँगें यह अचार उतनी जल्दी तैयार होगा.
mixed in a bowl
  1. एकदम ताज़ा नीबू का अचार मसाले मिलने के बाद...
freshly Neebu pickle
  1. नीबू का अचार लगभग एक हफ्ते धूप दिखाने के बाद.
pickle after about aweek

नीबू का अचार समय के साथ ही तैयार होता है. जितना ज़्यादा आप इस अचार को धूप में रखते हैं उतनी जल्दी यह बन कर तैयार होता है. आमतौर पर इस आचार को तैयार होने में कम से कम २ महीने का समय लगता है. एक और बात आपकी जानकारी के लिए बता दूँ कि नीबू का अचार जितना पुराना हो उतना ही अच्छा माना जाता है....

आप इस अचार किसी भी खाने के साथ परोस सकते हैं. वैसे यह नीबू का खट्टा मीठा आचार नमकीन, मठरी, नमकपारे इत्यादि के साथ भी बहुत अच्छा है. यह अचार सफ़र में भी आसानी से ले जाया जा सकता है. एक तो इस अचार में तेल नही है दूसरा यह पेट के लिए भी बहुत अच्छा है..

कुछ नुस्खे/ सुझाव

अगर आप चाहें तो यह अचार बिना शक्कर के भी बना सकते हैं ..

ह्ड़ के बारे में

ह्ड़ एक खड़ा मसाला है और इसका प्रयोग आम तौर पर चूरन, अचार, इत्यादि में होता है. यह पेट के लिए भी बहुत अच्छा माना जाता है.

pickle after about aweek

कुछ और चटनी और आचार