सामग्री
(4 लोगों के लिए)

गाजर का हलवा

See this recipe in English

गाजर का हलवा एक स्वादिष्ट मिठाई है, जो घिसी गाजर, दूध, चीनी, और सूखे मेवे के साथ बनाई जाती है. ठंड के मौसम में मीठी गाजरों का अलग ही मज़ा है. गाजर के हलवे का नाम लेते ही मुँह में पानी आने लगता है!! यह गाजर का हलवा बनाने का पारंपरिक तरीका है. उत्तर भारत के इस मशहूर पकवान को इस त्यौहार के मौसम में ज़रूर बनाएँ! ......

gazar ka halwa

बनाने की विधि

  1. हरी इलायची की बाहरी छिलका निकालें और दानों को दरदरा कूट लें.
  2. काजू को बीच से दो टुकड़ों में काट कर अलग रखें.
  3. गाजर को साफ करके थोड़े मोटे छेड़ वेल कद्दूकस से घिसें. .
गाजर 
कद्दूकस करी गाजर
गाजर                                                                           कद्दूकस करी गाजर
  1. अब एक कड़ाही में दूध और गाजर को उबालें. पहला उबाल आने के बाद आँच को धीमा कर दें, और दूध में गाजर को पकने दें. गाजर को पूरा दूध सोखने में तकरीबन 40 मिनट का समय लगता है. इस मिश्रण को हर 2-3 में चलाना ना भूलें. ऐसा करने से दूध नीचे से कड़ाही में लगता नही है.
first look of grated lauki and milk in the wok  milk after 10 mins of boiling
कद्दूकस करी गाजर और दूध                                                             10 मिनट पकने के बाद
  1. नीचे कुछ फोटो के ज़रिए मैने दूध और गाजर के पकने का द्रश्य दिखाया है अलग-अलग समय पर.
  2. दूध और गाजर के लगभग 35 पकने के बाद या फिर जब ज़्यादातर दूध गाजर के साथ मिल कर गाढ़ा हो जाए तो इसमें कटे हुए काजू डालें. और फिर 5-7 मिनट तक पकने दें.
 after 20 minutes of boiling  after 30 minutes of boiling
20 मिनट पकाने के बाद                                                        30 मिनट पकाने के बाद
  1. अब इसमें शक्कर और घी डालकर अच्छे से मिलाएँ. अब इस समय आपको इस मिश्रण को बराबर चलना होगा जिससे की हलवा नीचे से लगे नही. अब हलवे को पूरी तरह सूखने और शक्कर के द्वारा छोड़ी गयी नमी के सोख लेने तक पकाएँ. इस प्रक्रिया में तकरीबन 10 मिनट का समय लगता है.
after about 35 minutes of boiling after adding sugar
35 मिनट पकाने के बाद                                                          शक्कर मिलने के बाद
  1. अब कुटी हुई इलायची डालें और एक बार फिर अच्छे से हलवे हो मिलाएँ. अब आँच को बंद कर दीजिए.

स्वादिष्ट हलवा अब तैयार है.

कुछ नुस्खे / टिप्स 

गाजर को घिसने के लिए मोटे छेद का कद्दूकस प्रयोग करें ऐसा करने से गाजर पूरी तरह से दूध में घुलती नही है, और हलवा अधिक स्वादिष्ट लगता है.

इस विधि में खोया/ मावा की ज़रूरत नही है क्योंकि दूध की मात्रा ज़्यादा है खोया अपने आप ही बन जाता है पकते-पकते. लेकिन अगर आपको ज़्यादा खोया पसंद नही है तो दूध की मात्रा कम कर दीजिए.

विदेश में भारत के जैसी लाल गाजर नही मिलती है, इसीलिए मेरे हलवे का रंग थोड़ा नारंगी है लेकिन अगर आपको लाल गाजर मिलती है तो हलवे के लिए उसका ही प्रयोग करें.

कुछ और मिठाइयाँ